Love Shayari in hindi, हिंदी लव शायरी


शायर तो हम है शायरी बना देंगे
 आपको शायरी मे क़ैद कर लेंगे|
 कभी सूनाओ हमे अपनी आवाज़,
आपकी आवाज़ को हम ग़ज़ल बना देंगे.|
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


ना हम कुछ कह पाते हे, ना वोह कुछ कह पाते हे.
 एक दूसरे को देखकर गुजर जाया करते हे.
 कब तक चलता रहेंगा ये सिलसिला,
ये सोचकर दिन गुजर जाया करते हे.
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे,
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे,
 वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए,
हम तो बादल है प्यार के…किसी और पर बरस जायेंगे|
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


मंज़िलो से अपनी डर ना जाना,
 रास्ते की परेशानियों से टूट ना जाना,
 जब भी ज़रूरत हो ज़िंदगी मे किसी अपने की,
हम आपके अपने है ये भूल ना जाना.
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


आँखों मे आ जाते है आँसू,
 फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है,
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है…
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html



जादू है उसकी हर एक बात मे,
याद बहुत आती है दिन और रात मे,
कल जब देखा था मैने सपना रात मे,
तब भी उसका ही हाथ था मेरे हाथ मे…
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


आप को इस दिल में उतार लेने को जी चाहता है,
खूबसूरत से फूलो में डूब जाने को जी चाहता है,
आपका साथ पाकर हम भूल गए सब मैखाने,
क्योकि उन मैखानो में भी आपका ही चेहरा नज़र आता है….
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


उस जैसा मोती पूरे समंद्र में नही है,
वो चीज़ माँग रहा हूँ जो मुक़्दर मे नही है,
 किस्मत का लिखा तो मिल जाएगा मेरे ख़ुदा,
वो चीज़ अदा कर जो किस्मत में नही है…
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली….
सारी गली उनके पीछे निकली…
 इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से……….
और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली………
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी…
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी…
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना…
वो नादान है यारो… अपना हाथ जला लेगी.
https://shayari.techstp.com/2019/11/love-shayari.html


Post a Comment

0 Comments